×
A-  A A+

जूते जिंदाबाद:


View in full screen
यह संसाधन एक कहानी पर आधारित हैं और इस कहानी में बताया हैं की ज़िद करने की बजाय अपनी बात को पूरी तरह समझाने से बात जल्दी समझ आती हैं और सदैव अपनी बात को ही नहीं बल्कि दूसरे व्यक्ति की बात को भी समझना और सुनना चाहिए जिससे समस्या का समाधान शीघ्र होता हैं ।
More Info
License:[Source UNICEF ]May 1, 2020, 11:34 a.m.
Download

New comment(s) added. Please refresh to see.
Refresh ×
Comment
×

×