×
A-  A A+

बादल राग:

यह कार्यक्रम सूर्यकांत त्रिपाठी निराला द्वारा रचित कविता बादल राग पर आधारित है, इसमें वर्षा ऋतु में बादलों के उमड़-घुमड़ कर बरसने और वर्षा के पानी में सब कुछ अपने साथ बहा ले जाने की प्रवृत्ति का वर्णन किया गया है।
More Info
License:[Source CIET, NCERT ]Feb. 20, 2017, 11:40 a.m.
Download

New comment(s) added. Please refresh to see.
Refresh ×
Comment
×

×